Loose Motion In Hindi – दस्त का इलाज

By: Tipsdekho

2018-08

Loose Motion In Hindi – दस्त का इलाज

लूज मोशन को ही पेट झड़ना या दस्त भी कहते हैं. ये समस्या भी आम तौर पर खाने में अनियमितता या अन्य किसी वजह से कई लोगों को परेशान करती है. इस बीमारी में शौच एकदम पतला होने लगता है. इसमें आपको  बार-बार शौच जाना पड़ सकता है. इसके साथ ही आपको पेट में मारोड़, दर्द या ऐंठन जैसा भी महसूस हो सकता है.

लूज मोशन से डिहाईड्रेशन की समस्या उत्पन्न हो जाती है. क्योंकि बार-बार शौच जाने से शरीर के लिए आवश्यक पानी, खनिज तथा लवण आदि तेजी से बाहर निकल जाता है. सामान्य सी लगने वाली इस बीमारी में यदि आप लगातार पानी नहीं पी रहे हैं तो डिहाईड्रेशन के कारण मौत तक हो सकती है. क्योंकि डिहाईड्रेशन की वजह से शरीर में पानी और लवण की कमी हो जाती है. इस लिए दस्त के निम्नलिखित लक्षणों के आधार पर यदि ये दो दिन में ठीक न हो तो चिकित्सक से अवश्य परामर्श लें.

लूज मोशन के लक्षण

  • बार-बार शौच आना
  • कभी-कभी शौच में खून आना
  • पेट में सूजन
  • बुखार के साथ ठण्ड लगना
  • सामान्य से अधिक प्यास लगना
  • पेट में गड़बड़ी महसूस करना
  • पेट के निचले हिस्से में अचानक बहुत तेज दर्द का अनुभव करना

क्या हो सकते हैं दस्त के कारण?
1. दस्त की समस्या उत्पन्न होने का मुख्य कारण है आँतों में जरुरत से ज्यादा द्रव का जमा होना. हलांकि कई बार आंतों द्वारा तरल पदार्थ को ठीक तरह से अवशोषित न कर पाने से या फिर आँतों से मल के तेजी से निकलने के कारण भी ऐसा होता है.
2. कई बार दस्त की समस्या जीवाणुओं द्वारा संक्रमण या टॉक्सिन आदि भी हो सकता है. कभी-कभी किसी प्रकार का तनाव या किसी प्रकार के डर के कारण भी दस्त शुरू हो सकते हैं. ऐसे दस्त को क्रोनिक या जीर्ण दस्त कहते हैं.
3. दस्त या लूज मोशन होने के अन्य कारणों में कुछ एंटीबायोटिक दवाएं, किसी तरह के पेट के रोग, फ़ूड इन्फेक्शन, एलर्जी, शराब पिना, ज्यादा मिठाई खाना आदि है.

क्या है इसका उपचार?

  1. नींबू पानी
    ओआरएस का घोल आप घर पर नींबू की सहायता से बना सकते हैं. आपको एक ग्लास पानी में नींबू निचोड़कर उसमें थोड़ा नामक और चीनी मिलाकर पिने से आपका पेट साफ़ होगा. और लूज मोशन से राहत मिलेगी.
    2. कच्चा पपीता
    कच्चे पपीते को अच्छे से कद्दूकस करके तीन से चार कप पानी में डालें. लगभग दस मिनट तक इस पानी को उबालने के बाद इस पानी को दिन में तीन से चार बार पिएं. इससे आपको लूज मोशन से तो राहत मिलेगी ही, पेट मरोड़ से भी निजात मिलेगी.
    3. साबुनदाना
    साबुनदाना पेट की पाचन शक्ति को मजबूती प्रदान करता है. साबुनदाना को तीन-चार घंटे तक पानी में भिगोकर इस पानी को दिन में पांच बार पिने से लूज मोशन में राहत मिलती है.
    4. सरसों के बीज
    सरसों के बीज को पानी में कुछ घंटे के लिए रखें और इस पानी को पिएं. ये लूज मोशन को बंद करने का कारगर तरीका है.
    5. दूध को कहें ना
    दूध भले ही एक सम्पूर्ण पौष्टिक आहार माना जाता है. लेकिन इसे पचाना अपेक्षाकृत मुश्किल है. इसलिए लूज मोशन के समय दूध के सेवन से बचें.
    6. अनार
    अनार को चबाकर खाने से भी लूज मोशन रुकता है. यदि आपको बीज पसंद नहीं है तो आप अनार का जूस भी पी सकते हैं.
    7. लौकी का रस
    लूज मोशन में सबसे बड़ा डर शरीर में पानी की कमी होने को लेकर होता है. यदि आप चाहते हैं कि आप पानी की कमी से बचें तो आपको लौकी का जूस पीना चाहिए. इसे काली मिर्च और नमक डालकर थोड़ा स्वादिष्ट बना सकते हैं.
    8. मेथी
    चूँकि लूज मोशन का एक कारण जीवाणु भी होते हैं. मेथी स्वभाव से जीवाणुरोधी होता है इसलिए इसके एक या दो चम्मच का पाउडर बनाकर एक ग्लास पानी में डालकर पिने से लूज मोशन रुकता है.
    9. स्टार्च से भरपूर भोजन
    स्टार्च खाना पचाने में मदद करता है. इसलिए लूज मोशन के समय स्टार्चयुक्त भोजन करने की सलाह दी जाती है. इसके लिए आप चावल, उबला हुआ आलू या गाजर खा सकते हैं.
    10. सौंठ
    सौंठ और अदरक का पाउडर हमारे पाचन शक्ति को मजबूती देता है. एक कप छाछ में आधा चम्मच सौंठ मिलाकर पिने से पेट दर्द और लूज मोशन दोनों ही रुकता है.
    11. चाय पत्ती
    आपको शायद यकीन न हो लेकिन ये सच है कि लूज मोशन में एक चम्मच चाय पत्ती को पीसकर पीने से तुरंत राहत मिलती है. यदि छोटे बच्चे को देना हो तो एक चम्मच चाय पत्ती को पानी में घोलकर उस पानी को पिलाएं.

 

Shear this
View all

Most Popular Video

Most Popular Articles