गर्मी से बचने के घरेलु उपाय Garmi aur Loo se Bachne ke Liye Gharelu Upay

By: Tipsdekho

2018-04

गर्मी से बचने के घरेलु उपाय

                     आया  मौसम  गर्मी ,लू का…… 

दोस्तों ,मई का महीना आ गया है और सूरज अपनी प्रखर किरणों की तीव्रता से संसार के जलियांश (स्नेह )को सुखा कर वायु में रूखापन और ताप बढ़ा कर मनुष्यों के शरीर के ताप की भी वृद्धि कर रहा है!

गर्मी में होने वाले आम रोग –गर्मी में लापरवाही के कारण सरीर में निर्जलीकरण (dehydration),लू लगना, चक्कर आना ,घबराहट होना ,नकसीर आना, उलटी-दस्त, sun-burn,घमोरिया जैसी कई diseases हो जाती हैं.

इन बीमारियों के होने में प्रमुख कारण-

  • गर्मी के मोसम में खुले शरीर ,नंगे सर ,नंगे पाँव धुप में चलना ,
  • तेज गर्मी में घर  से खाली पेट या प्यासा बाहर जाना,
  • कूलर या AC से निकल कर तुरंत धुप में जाना ,
  • बाहर धुप से आकर तुरंत ठंडा पानी पीना ,सीधे कूलर या AC में बेठना ,
  • तेज मिर्च-मसाले,बहुत गर्म खाना ,चाय ,शराब इत्यादि का सेवन ज्यादा करना ,
  • सूती और ढीले कपड़ो की जगह सिंथेटिक और कसे हुए कपडेपहनना

इत्यादि कारण गर्मी से होने वाले रोगों को पैदा कर सकते हैं

हम कुछ छोटी-छोटी किन्तु महत्त्वपूर्ण बातो का ध्यान रख कर ,इन सबसे बचे रह कर ,गर्मी का आनंद ले सकते हैं!

उपचार से बचाव  बेहतर होता है,है ना?

गर्मी से बचने के उपाय और घरेलू नुस्खेTips to Fight Summer in Hindi

गर्मी में क्या खाएं और क्या नहीं खाएं इस बात का ध्यान रखना बहुत ज़रूरी है, इसके इलावा कुछ घरेलू नुस्खे भी है जो गर्मी और लू से बचने में फायदा करते है।

  1. धनिया पानी में भिगो ले फिर अच्छे से मसल कर छान ले। अब इसमें थोड़ी शक्कर मिलाकर पिए। इस होम रेमेडी से गर्मी से आराम मिलता है।
  2. ईमली के बीज पीसकर पानी में घोल ले और साफ़ कपड़े से छान ले। पानी में थोड़ी शक्कर मिलाकर पीने से गर्मी से रहत मिलेगी।
  3. गर्मी में लस्सी पीना और दही खाना पेट के लिए अच्छा होता है। छाछ में थोड़ा कला नमक और जीरा डाल कर पिए। गर्मी से बचने के लिए उपाय में ठंडाई, नारियल पानी, नींबू पानी और फलों का जूस पिने से भी राहत मिलती है। बेलगिरी का शरबत गर्मी से बचने में अच्छा उपाय है, इसके इलावा ये गर्मी में मोटापा घटाने में भी फायदा करता है।
  4. लौकी में पानी अधिक मात्रा में होता है, इस से शरीर में पानी की कमी नहीं होती। गर्मी के मौसम में अगर खाना ठीक से नहीं पचता है तो लौकी का रायता, सब्ज़ी या जूस पिए। लौकी के इलावा कदू, तौरी, खीरा, दही उबला हुआ आलू खाना फयदेमंद है।
  5. गर्मी में होने वाले पेट के रोग, घमोरिया और पित्त से बचने और इनके इलाज में जलजीरा सेवन उत्तम है। पित्त, घमोरिया हो जाने पर तुलसी और नीम का पेस्ट लगाना अचूक उपाय है।
  6. गर्मी में लू लगने पर बॉडी में डिहाइड्रेशन होने लगती है। इसका इलाज करने के लिए ग्लूकोस या कोई एनर्जी ड्रिंक पानी में मिलकर दिन में तीन से चार बार पिए।
  7. धूप से घर आने के कुछ घंटो के बाद चंदन पाउडर और मुलतानी मिट्टी का फेस पैक बना कर चेहरे पर लगाने से चेहरे को ठंडक मिलती है।
  8. सादा पानी आपकी त्वचा को तरोताजा रखता है। आप अगर बहुत थकान महसूस कर रहे हैं तो पानी के छीटों से आप फ्रेश महसूस करेंगे।
  9. एक बोतल में आप परफ्यूम की थोड़ी सी बूँदों के साथ ज्यादा मात्रा पानी मिला लें। स्प्रे बोतल की तरह इसका इस्तेमाल करें, इससे आप रिफ्रेश महसूस करेंगे।
  10. खीरे के जूस को आप चेहरे पर लगाएं, यह प्राकृतिक मॉइस्चराइज़र की तरह काम करता है। इससे चेहरे पर ठंडक महसूस होगी और आप सनबर्न की समस्या से बचे रहेंगे।
  11. पिसी हुई चंदन, तुलसी और गुलाब आदि नेचुरल चीजें लगाने से गर्मी में राहत मिलती है। धूप से आने के कुछ घंटों बाद मुल्तानी मिट्टी और चंदन पाउडर लगाने से आपकी त्वचा को ठंडक महसूस होगी।
  12. घमौरियां हो जाने पर नीम और तुलसी का पेस्ट लगाना फायदेमंद होता है। गुलाब की पत्तियों को पानी में भिगोकर उस पानी से चेहरा धोने पर गर्मी के मौसम में त्वचा मुलायम बनी रहती है।
  13. चेहरे पर पीसी हुई चंदन और खीरे के जूस के साथ दो-तीन बूंद ग्लिसरीन की बूंदें और गुलाब जल मिलाकर उसका लेप लगाने पर भी राहत मिलती है।

खाने-पीने का ध्यान रखें

गर्मी के मौसम में खान-पान पर विशेष ध्यान देना चाहिए। पेट की खराबी और अधिक तैलीय व मसालेदार खाद्य-पदार्थों का सेवन करने से पाचन-क्रिया प्रभावित होती है। इससे अनेक बीमारियां हो सकती हैं।

  • गर्मी में अधिक शुष्कता के कारण शरीर में जल की मात्रा कम हो जाती है। इसकी पूर्ति के लिए बार-बार जल और जलीय पदार्थों का सेवन करना चाहिए।
  • धनिए को पानी में भिगो लें फिर उसे अच्छी तरह मसल लें और छानकर उसमें थोड़ी सी शकर मिला लें। इसे पीने से गर्मियों में राहत मिलती है।
  • इमली के बीज को पीसकर उसे पानी में घोलकर कपड़े से छान लें। इस पानी में शक्कर मिलाकर पीने से गर्मी में राहत मिलती है।
  • जहां तक हो सके गर्मियों में विटामिन ए युक्त फ्रूस्टी जैसे ब्लैक ग्रेप्स, हरे पत्ते वाली वेजिटेबल्स, विटामिन सी से युक्त रसीले फ्रूट्स जैसे आम, खट्टे फ्रूट्स और नींबू पानी लेने चाहिए।
  • इस मौसम में दही, मौसमी ताजे फल जैसे संतरा, पपीता, स्ट्रॉबेरी, ग्रेप का जूस ज्यादा से ज्यादा पीये। ये हेल्दी होने के साथ-साथ शरीर को अंदर से ठंडा रखने में सहायक होते हैं।
  • बेल का शरबत गर्मी के लिए बहुत उत्तम माना जाता है। गर्मी में मोटापा घटाने में भी यह सहायक होता है।
  • नारियल में प्रचूर मात्रा में पौष्टिक तत्व होते है। गर्मी में इसका सेवन सबसे अच्छा होता है।
  • नीबू की शिकंजी गर्मी के लिए बहुत अच्छा पेय है। इसे घर में आसानी से तैयार किया जा सकता है।
  • पुदीने में प्राकृतिक रूप से पिपरमिंट पाया जाता है, इसलिए गर्मी में यह बहुत उपयोगी होता है। लू, बुखार, शरीर में जलन और गैस की तकलीफ को दूर करता है।
  • किसी भी तरह की अपच,अजीर्णता, पित्त की अधिकता, पेट दर्द, गैस में जलजीरा लाभकारी होता है।
  • पूरे उत्तर भारत में गर्मी के मौसम में ठंडाई का उपयोग खूब होता है।
  • गर्मी के मौसम में जीरा-नमक डालकर छांछ पीना भी फायदेमंद होता है।

    गर्मी से बचने के लिए क्या करे 

  • प्रतिदिन दो से तीन लीटर पानी पिए।
  • गर्मियों में ढ़ीले और सूती कपड़े पहने।
  • तेज धूप में नंगे पाँव और नंगे सिर घर से बाहर ना निकले।
  • कूलर और ए सी के आगे से हट कर एक दम धूप में ना जाए।
  • बाहर धूप से आते ही तुरंत कूलर या ए सी के आगे ना बैठे और ना ही तुरंत ठंडा पानी पीए।
  • गर्मी में चाय जादा और मसले वाली चीज़े भी कम खाए। बीड़ी सिगरेट शराब के सेवन से दूर रहे।
  • खाली पेट हो तो तेज धूप में घर से बाहर ना जाए और जब धुप में बाहर जाना पड़े तो पानी पी कर जाए।

गर्मी से बचने के लिए आप योग के कुछ आसन का सहारा भी ले सकते है शीतकारी प्राणायाम, शीतली प्राणायाम, सवासना और चन्द्रभेदी प्राणायाम।

लू से बचने के घरेलू उपाय हिंदी

लू लगने का इलाज करने से बेहतर है की हम पहले ही गर्मी में लू से बचने के उपाय पहले ही कर ले। धूप और गर्मी के कारण शरीर का तापमान बढ़ जाता है। अक्सर शरीर से जादा पसीना निकलने की वजह से भी शरीर का तापमान बढ़ जाता है।

गर्मी में लू लगने पर भूख कम लगना, सिर दर्द होना, चक्कर आना, बुखार आना और शरीर में पानी की कमी होना लू के लक्षण में से कुछ है। अगर किसी को लू लग गयी हो तो ऊपर लिखे हुए नुस्खे अपनाकर घरेलू तरीके से इलाज कर सकते है।

Garmi aur Loo se Bachne ke Liye Gharelu Upay

Garmi se bachne ke gharelu upay: Dosto garmi ka mausam(summer season) aa gaya hai. Suraj ki tej dhoop ke kaaran hawa mein rukhapan, jameen mein paani sukna aur temperature badhna jesi samasyao ka samana karna padta hai. Kai shaharo aur gaavo mein tapmaan 45 degree se bhi upar ho gaya hai aur paani ki kilaat itni badh gayi hai ki sukhe ke halat ban gaye hai. Garmi badhne ke sath shareer ko aaneko parkar ki bimariyo ki aashanka hone lagti hai.

Garmi ke Kaaran Hone wali Bimariya

Garmi ka mausam aate hi tej dhup aur humas(humidity) pareshaan karne lagti hai. Summers mein hamare shareer ko kai parkar ki bimariya hone ka khatra bana rehta hai.

  1. Loo lagna, Chakar aana aur gabrahat hona.
  2. Shareer mein paani ki kaami hona. (Dehydration)
  3. Sun burn, ghamoriya aur pit ki shikayat hona.
  4. Nakseer aana aur ulti-dast hona.

Garmi se Bachne ke Liye Kya Kare

Hum kuch choti choti baato ka dhyaan rakh kar garmi, dhoop aur loo se bache reh sakte hai.

  1. Rojana 2 se 3 litre taja paani piye.
  2. AC aur Cooler se nikal kar turant dhoop mein na jaye.
  3. Tej dhoop mein khaali pet ghar se bahar na nikale, aur jab bhi bahar jaye paani pi kar jaaye.
  4. Suti aur dheele kapde pehne.
  5. Garmi mein jada chay aur masale wali cheeje na khaye. Bidi, cigrate aur sharab ka sevan bhi kam kare.
  6. Tej dhoop mein nange sir, nange paanv aur khulle shareer bahar na nikale.
  7. Bahar dhoop se aa kar turant AC aur cooler ke aage na baithe aur thanda paani bhi na peeye.
  8. Garmi se bachne ke liye yoga ke kuch aasan bhi kar sakte hai. Sheetkari, sheetali, savasana aur chandra bhedan pranayam karne se garmi mein fayda hota hai.
  9. Belgiri ka Sharbat:
    Bel giri ka sharbat peena garmi mein bhut he utam hai. Ye garmi mein motapa kam karne mein bhi madad karta hai.
  10. Lauki: Lauki mein paani ki maatra jada hoti hai aur iske sevan se body mein dehydration nahi hoti. Agar garmi mein thik se khana digest nahi hota to lauki ki sabzi, rayta ya lauki ka juice bana kar piye. Iske ilaava garmi ke mausam mein tauri, kadu, kheera, ubala hua aaloo aur dahi khana faydemand hota hai.
  11. Paani: Jada garmi ki wajah se baar baar gala sukhne lagta hai aur shareer mein paani ki kami bhi hone lagti hai, isliye thodi thodi der mein paani piye. Sada paani skin ko fresh rakhta hai. Jada thakan hone par apne munh par paani ke cheentee mare, isse aap fresh mehsoos karenge.
  12. Jaljeera: Garmi mein hone wali pet ki bimariya aur pit, ghamoriya se bachne ya inke upchaar karne mein jaljeera ka sevan faydemand hai.
  13. Dhaniya: Dhaniya ko paani mein bhigo kar ache se masal le aur chaan kar usme thodi shakkar mila le. Is paani se garmi se rahat milti hai.
  14. Pyaaj: Garmi se bachne ke gharelu upay aur loo se chutkara pane ki liye pyaaj ka istemaal bhut hi faydemand hota hai. Ek pyaaj le aur ise jeere ke saath bhun kar khaaye. Is upay se pachan kriya normal ho jaati hai aur shareer ka taapmaan samany ho jaata hai.
  15. Imali: Imali ke beejo ko pees kar use paani mein ghol kar kisi kapde se chaan le. Imali ke is paani mein thoda shakkar mila kar piye, garmi se aaram milega.
  16. Gaay ka Doodh: Gaay ke dudh(cow milk) mein peesi hui kaali mirch daal kar apne shareer par lagaye. Isse sharer ki garmi bahar nikal jaati hai.
  17. Kheera: Kheera ek natural moisturiser ki tarah kaam karta hai, kheere ke juice ko chehre par lagane se chehre par thandak mehsoos hogi aur sunburn ki problem se bhi bache rahenge. Pisi hui chandan, khire ka juice, glycerine ki 2-3 bunde aur gulab jal ko milakar ek leep bana le aur face par lagane se rahat milti hai.
  18. Pudeena: Pudeena ek natural papermint hai jo garmi se nijaat paane ke liye bahut upyogi hai. Pudeena bukhar, pet mein jalan, loo aur gas ki samasyako bhi dur rakhta hai.
  19. Lassi: Garmi ke mausam(summer) mein dahi khana aur lassi peena pet ke liye bhut acha hota hai. Chaach mein thoda jeera aur kala namak daal kar piye. Garmi se bachne ke liye thandayi bhi pi sakte hai.
  20. Naariyal Paani: Naariyal mein kaafi poshak tatav hote hai. Garmi mein loo se bachne ke liye naariyal paani piye aur naariyal khaye.
  21. Neembu Paani: Nembu mein vitamin C bharpur maatra mein hota hai. Garmi se nijaat paane ke liye nembu ki shikanji bana kar piye.
  22. Fruit Juice: Garmi mein taaje falo ka ras pine se bhi aaram milta hai. Strawberry, pappita, santra, angoor ka juice jaada piye. Ye juice healthy hone ke sath sath body ko andar se thanda rakhte hai.
  23. Energy Drink: Garmi mein loo lagne par sharer mein paani ki kami ho jaati hai jisse dehydration hone lagti hai. Iska upay karne ke liye paani mein glucose ya electrolyte salt ya fir koi energy drink din mein 3 se 4 baar piye.

    Thanks For Watching

    Article By Nitin Agarwal

Shear this
View all

Most Popular Video

Most Popular Articles